Billionaire Lee Jae-yong: भ्रष्टाचार के दोषी Samsung के बॉस Lee को मिला क्षमादान, कोरियन राष्ट्रपति ने बताई फैसले की अजीब वजह

1 month ago

Lee Jae-yong of Samsung group: इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद बनाने वाली दक्षिण कोरियाई कंपनी Samsung के बॉस Lee Jae-yon को भ्रष्टाचार के मामलों में दोषी पाया गया है. हालांकि देश की अर्थव्यवस्था में सैमसंग कंपनी के योगदान को देखते हुए कोरियाई राष्ट्रपति ने उन्हें क्षमादान भी दे दिया है. उन्हें यह क्षमादान अगले सप्ताह आने वाले दक्षिण कोरिया के मुक्ति दिवस की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में दिया गया है. Lee Jae-yon के साथ ही राष्ट्रपति Yoon Suk-yeol ने जेल में बंद 1692 कैदियों को उनकी गंभीर बीमारी को देखते हुए वक्त से पहले रिहा करने का भी आदेश दिया. 

कई लोगों ने जताई फैसले पर नाराजगी

सहयोगी वेबसाइट WION के मुताबिक Lee Jae-yon को भले ही राष्ट्रपति ने क्षमादान दे दिया हो लेकिन देश में कई लोगों ने इस फैसले पर भौहें चढ़ा ली हैं. दरअसल ली को पिछले साल जनवरी में रिश्वतखोरी और गबन का दोषी ठहराया गया था. भ्रष्टाचार के मामले में दोषी ठहराए गए Lee Jae-yon की समय पूर्व रिहाई दक्षिण कोरिया के लिए कोई नई बात नहीं है. वहां पर इससे पहले भी भ्रष्टाचार मामले में दोषी ठहराए गए कई बड़े कारोबारियों को जेल से समय से पहले रिहाई मिल चुकी है. 

पिछले साल पैरोल पर रिहा हुए थे ली

अगस्त 2021 में ली को 18 महीने जेल की सजा काटने के बाद पैरोल पर रिहा किया गया था. कोर्ट ने उन्हें कुल 5 साल जेल की सजा सुनाई थी लेकिन उन्हें इससे पहले ही पैरोल पर रिहाई मिल गई. अब राष्ट्रपति ने शुक्रवार को उनकी बाकी की सजा पूरी तरह माफ कर दी है. जिससे ली के दोबारा से कंपनी को संभालने और कारोबारी जगत में वापस लौटने का मौका देगा. Lee Jae-yon की संपत्तियों की बात करें तो फोर्ब्स के अनुसार ली दुनिया के 278वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं. उनकी कुल संपत्ति 7.9 बिलियन डॉलर है.

देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ाने के लिए रिहाई

दक्षिण कोरिया के न्याय मंत्री Han Dong-hoon ने कहा कि 54 वर्षीय Lee Jae-yon को देश के आर्थिक संकट पर काबू पाने में योगदान देने का मौका देने के लिए रिहा गया है. उन्होंने एक बयान में कहा, 'वैश्विक आर्थिक संकट के कारण, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की गतिशीलता और जीवन शक्ति खराब हो गई है. इस आर्थिक मंदी के लंबे समय तक चलने की आशंका है.'

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के हैं वाइस चेयरमैन 

Lee Jae-yon दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के वाइस चेयरमैन हैं. दक्षिण कोरिया के सकल घरेलू उत्पाद में सैमसंग समूह का पांचवें हिस्सा है. दक्षिण कोरियाई कानून के अनुसार, यदि किसी व्यक्ति को 500 मिलियन कोरियाई वॉन ($ 384,101) से अधिक के गबन या विश्वास के उल्लंघन का दोषी ठहराया जाता है, तो वह व्यक्ति जेल की सजा समाप्त होने के बाद भी अपराध से संबंधित कंपनी के लिए पांच साल तक काम नहीं कर सकता है. लेकिन अगर राष्ट्रपति बाकी सजा माफ कर देते हैं तो दोषी पर यह प्रावधान लागू नहीं होता है. 

ली पर भ्रष्टाचार का एक और मुकदमा जारी

ली भ्रष्टाचार के मामले में फिलहाल रिहा हो गए हैं. लेकिन उन पर अब भी धोखाधड़ी का एक मुकदमा चल रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2015 में दो सैमसंग फर्मों के विलय के संबंध में अकाउंटिंग फ्रॉड किया गया था. उस मामले में ली समेत सैमसंग के 11 अधिकारियों को वर्ष 2020 में अवैध लेनदेन, स्टॉक हेरफेर और झूठी गवाही के मामले में चार्जशीट किया गया था. वह मामला कोर्ट में अब भी पैंडिंग चल रहा है. 

देश के मुक्ति दिवस पर मिली रिहाई

बताते चलें कि जापानी से आजादी के उपलक्ष्य में दक्षिण कोरिया हर साल अगस्त में मुक्ति दिवस मनाता है. जापान ने दक्षिण कोरिया पर दशकों तक शासन किया था. वर्ष 1945 में अमेरिका की ओर से परमाणु बम गिराए जाने के बाद जापान ने सरेंडर कर दिया था, जिसके बाद दक्षिण कोरिया को भी उससे मुक्ति मिल गई थी. आजादी की इसी याद में हर साल सैकड़ों कैदियों की क्षमा के साथ यह दिन मनाया जाता है.

(ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर)

Read Full Article at Source