'आपराधिक मामलों में सांसदों को कोई विशेषाधिकार नहीं', उपराष्ट्रपति बोले- संसद सत्र के दौरान हो सकती है गिरफ्तारी

1 week ago

राज्यसभा के सभापति के वेंकैया नायडू

राज्यसभा के सभापति के वेंकैया नायडू

Parliament Session:  उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने संविधान के अनुच्छेद 105 का हवाला देते हुए बताया कि किसी भी सांसद को संसदीय कर्तव्यों का पालन करने के लिए विशेष अधिकार दिए गए हैं. लेकिन यह प्रावधान आपराधिक मामलों में लागू नहीं होता है. इसलिए आपराधिक मामलों की कार्रवाई में सांसद भी सामान्य नागरिक की तरह होते हैं और उन्हें संसद सत्र या समिति की बैठक के दौरान गिरफ्तार किया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

News18HindiLast Updated : August 05, 2022, 23:24 ISTEditor default pictureEditor default picture

हाइलाइट्स

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने संविधान के अनुच्छेद 105 का दिया हवाला
'दीवानी मामलों में छूट, लेकिन यह प्रावधान आपराधिक केस पर लागू नहीं'
'हमारा कर्तव्य है कानून का सम्मान करें और उसकी प्रक्रिया का हिस्सा बनें'

नई दिल्ली: राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि आपराधिक मामलों में सांसदों के विशेषाधिकार नहीं होते हैं. संसद सत्र के दौरान सदस्यों को ऐसे मामलों में गिरफ्तार से छूट नहीं है इसलिए वे जांच एजेंसियों द्वारा जारी समन से बच नहीं सकते हैं. उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से सांसदों के बीच उनके विशेषाधिकार को लेकर असमंजस बना हुआ था और यह गलत धारणा बनी कि संसद सत्र के दौरान जांच एजेंसी सांसदों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर सकती है.

दरअसल राज्यसभा में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने दोपहर करीब 1 बजे सांसदों को जांच एजेंसियों द्वारा जो समन जारी किया जाता है उसके बारे में महत्वपूर्ण बातें कहीं. सांसद इस तरीके के समन से बच नहीं सकते जो कि कानूनी एजेंसियों द्वारा जारी किया जाता है और आपराधिक मामलों का होता है. कानून व्यवस्था में विश्वास रखने वाले शख्स के नाते यह हमारा कर्तव्य है कानून का सम्मान करें और उसकी प्रक्रिया का हिस्सा बनें.

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने संविधान के अनुच्छेद 105 का हवाला देते हुए बताया कि किसी भी सांसद को संसदीय कर्तव्यों का पालन करने के लिए विशेष अधिकार दिए गए हैं. इसके तहत संसद सदस्य को सत्र या संसदीय समिति की बैठर शुरू होने से 40 दिन पहले और 40 दिन बाद तक दीवानी के मामलों में गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है.

लेकिन यह प्रावधान आपराधिक मामलों में लागू नहीं होता है. इसलिए आपराधिक मामलों की कार्रवाई में सांसद भी सामान्य नागरिक की तरह होते हैं और उन्हें संसद सत्र या समिति की बैठक के दौरान गिरफ्तार किया जा सकता है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

Tags: Parliament session, Vice President Venkaiah Naidu

FIRST PUBLISHED :

August 05, 2022, 23:24 IST

Read Full Article at Source