नाई ब्राह्मणों के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों पर आंध्र प्रदेश सरकार ने लगाया प्रतिबंध

1 month ago

सरकार ने आपत्तिजनक शब्‍दों पर प्रतिबंध लगाया है. ( प्रतीकात्‍मक फोटो)

सरकार ने आपत्तिजनक शब्‍दों पर प्रतिबंध लगाया है. ( प्रतीकात्‍मक फोटो)

नाई (हज्जाम) के लिए तेलुगु के शब्द ‘मांगली’ का अब इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है क्योंकि आंध्र प्रदेश सरकार (Andhra Pradesh Government) ने कुछ अन्य शब्दों के साथ इसे प्रतिबंधित करने का आदेश जारी किया है.

भाषाLast Updated : August 12, 2022, 18:11 ISTEditor default picture

हाइलाइट्स

आंध्र प्रदेश सरकार का फैसला, कुछ शब्‍दों पर प्रतिबंध लगाया
लोगों की आपत्ति पर लिया निर्णय, आदेश हुए जारी
नाई (हज्जाम) के लिए तेलुगु के शब्द ‘मांगली’ पर रोक लगाई

अमरावती.  नाई (हज्जाम) के लिए तेलुगु के शब्द ‘मांगली’ का अब इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है क्योंकि आंध्र प्रदेश सरकार (Andhra Pradesh Government) ने कुछ अन्य शब्दों के साथ इसे प्रतिबंधित करने का आदेश जारी किया है. सरकार ने इसे प्रतिबंधित करने का इसलिए आदेश दिया क्योंकि इससे ‘नाई ब्राह्मण समुदाय के स्वाभिमान को ठेस पहुंच रही थी.’ सरकार ने अपने आदेश में स्थानीय बोलचाल की भाषा में इस्तेमाल होने वाले शब्दों मांगली, मंगलीधि, मंगलोदा, बोच्चू गोरिगेवाडा और कोंडामांगली के इस्तेमाल पर रोक लगा दी, क्योंकि ये समुदाय के खिलाफ ‘अपमानजनक शब्द’ हैं.

पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग ने एक आदेश में कहा, ‘कोई भी व्यक्ति जाति के नाम पर इस तरह के अपमानजनक और निषिद्ध शब्दों का उपयोग करके उनकी भावनाओं आहत करता है तो उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता, 1860 के प्रावधानों के तहत दंडात्मक कार्रवाई की जायेगी.’ यह आदेश आंध्र प्रदेश नाई ब्राह्मण सहकारी वित्त निगम, नई दिल्ली के नव समाज द्वारा किए गए अभ्यावेदन और राज्य पिछड़ा वर्ग कल्याण निदेशक की एक रिपोर्ट पर आधारित है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

Tags: Andhra Pradesh Government, Language

FIRST PUBLISHED :

August 12, 2022, 18:11 IST

Read Full Article at Source