पाकिस्तान से रिश्तों पर विदेश मंत्री जयशंकर की दो टूक, कहा- तब तक बातचीत नहीं हो सकती, जब तक...

1 month ago

जर्मनी की विदेश मंत्री एनालेना बेयरबॉक से चर्चा के बाद एस जयशंकर ने संयुक्‍त बयान जारी किया. (फोटो- Twitter )

जर्मनी की विदेश मंत्री एनालेना बेयरबॉक से चर्चा के बाद एस जयशंकर ने संयुक्‍त बयान जारी किया. (फोटो- Twitter )

विदेश मंत्री एस जयशंकर (EAM S Jaishankar) ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) जब तक सीमा पार से आतंकवाद जारी रखेगा, तब तक उ ...अधिक पढ़ें

भाषाLast Updated : December 05, 2022, 23:35 ISTEditor default picture

हाइलाइट्स

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्‍तान को सुनाई खरी-खरी
जर्मनी की विदेश मंत्री एनालेना बेयरबॉक के सामने की टिप्‍पणी
सीमा पार आतंकवाद जारी रहने पर पाकिस्‍तान से बातचीत नहीं

नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस जयशंकर (EAM S Jaishankar) ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) के साथ तब तक बातचीत नहीं हो सकती है जब तक वह सीमापार आतंकवाद (cross border terrorism) को जारी रखता है. जयशंकर ने जर्मनी की अपनी समकक्ष एनालेना बेयरबॉक की मौजूदगी में यह टिप्पणी की और कहा कि बर्लिन इस बात को समझता है. बेयरबॉक दो दिवसीय यात्रा पर सोमवार को भारत पहुंची. जयशंकर ने बेयरबॉक के साथ द्विपक्षीय सहयोग सहित क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की.

बैठक के बाद जर्मनी की विदेश मंत्री एनालेना बेयरबॉक के साथ संयुक्त प्रेस संबोधन में जयशंकर ने कहा, ‘हमने अफगानिस्तान की स्थिति और पाकिस्तान के बारे में चर्चा की जिसमें सीमा पार आतंकवाद से जुड़ा विषय भी शामिल था.’ उन्होंने जोर दिया कि अगर सीमा पार से आतंकवाद जारी रहता है तो पाकिस्तान के साथ बातचीत नहीं हो सकती. जयशंकर ने कहा, ‘पाकिस्तान के संबंध में मैंने जर्मनी की विदेश मंत्री के साथ चर्चा की और अपने संबंधों एवं सीमापार आतंकवाद की चुनौतियों को रेखांकित किया.’

कश्मीर पर जर्मनी के रुख में बदलाव नहीं                                                                             उन्होंने कहा कि वास्तव में पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय स्तर पर सम्पर्क में सबसे बड़ी चुनौती यह है कि आतंकवाद के साथ बातचीत नहीं हो सकती है. उन्होंने कहा कि जर्मन पक्ष इस बात को समझता है. गौरतलब है कि अक्टूबर में जर्मनी में पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावन भुट्टो जरदारी के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में बेयरबॉक ने कश्मीर मुद्दे के समाधान पर संयुक्त राष्ट्र की संभावित भूमिका की बात कही थी. इस पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी. इसके कुछ दिन बाद भारत में जर्मनी के राजदूत फिलिप एकरमैन ने कहा था कि कश्मीर पर जर्मनी के रुख में बदलाव नहीं आया है. वहीं, जयशंकर ने सोमवार को कहा कि हमने हिन्द प्रशांत के विषय और ईरान के मुद्दे पर भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि विभिन्न विषयों पर जर्मनी की विदेश मंत्री के विचारों को सुनना काफी उपयोगी और फलदायक रहा .

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: EAM S Jaishankar, Pakistan, Terrorism

FIRST PUBLISHED :

December 05, 2022, 23:35 IST

Read Full Article at Source