रूस में 24 घंटे में करीब 15 हजार मामले मिले, अमेरिकी कंपनी फाइजर ने कहा- अगले महीने वैक्सीन के लिए मंजूरी मांगेंगे; दुनिया में 3.96 करोड़ केस

1 week ago
Hindi NewsInternationalCoronavirus Novel Corona Covid 19 17 Oct | Coronavirus Novel Corona Covid 19 News World Cases Novel Corona Covid 19

वॉशिंगटन10 मिनट पहले

कॉपी लिंक

अमेरिकी कंपनी फाइजर ने कहा है कि वो नवंबर के आखिर तक फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन यानी एफडीए से वैक्सीन का अप्रूवल मांगने जा रही है। हालांकि, यह तय है कि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के दिन यानी तीन नंवबर तक वैक्सीन नहीं आ पाएगी। पहले ट्रम्प यह दावा करते रहे हैं। (प्रतीकात्मक)

दुनिया में 11.10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, 2.97 करोड़ से ज्यादा लोग अब स्वस्थअमेरिका में 82.96 लाख लोग संक्रमित, 2.23 लाख से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं

दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.96 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 97 लाख 17 हजार 336 हो चुकी है। मरने वालों का आंकड़ा 11.10 लाख के पार हो चुका है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं। रूस में 24 घंटे में संक्रमण के 14,922 मामले सामने आए हैं। देश में संक्रमितों की संख्या 13.84 लाख से ज्यादा हो गई है। वहीं, अब तक 24 हजार लोग मारे जा चुके हैं।

साल के आखिर तक आएगी वैक्सीन

महामारी से जूझ रही दुनिया के लिए एक अच्छी खबर है। अमेरिकी कंपनी फाइजर ने कहा है कि वो अगले महीने वैक्सीन के लिए मंजूरी मांगेगी। ‘द गार्डियन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी कंपनी फाइजर ने कहा है कि वो अगले महीने ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन और एफडीए के सामने वैक्सीन को अप्रूवल देने का प्रस्ताव रखेगी। कंपनी के मुताबिक, इस बात की पूरी उम्मीद है कि इस साल के आखिर तक वैक्सीन सभी के लिए उपलब्ध हो जाएगी।

वहीं, ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी शुरुआत में सिर्फ इमरजेंसी यूज के लिए वैक्सीन का अप्रूवल मांगने जा रही है। इस बात की संभावना कम है कि अमेरिका में इलेक्शन डे यानी 3 नवंबर के पहले कोई वैक्सीन उपलब्ध होगा। एफडीए की गाइडलाइन्स के मुताबिक, फाइनल ट्रायल में शामिल हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन देने के बाद दो महीने तक निगरानी में रखा जाता है। इस दौरान यह पता लगाने की कोशिश की जाती है कि कहीं वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट तो नहीं है।

इन 10 देशों में कोरोना का असर सबसे ज्यादा

देश

संक्रमितमौतेंठीक हुए
अमेरिका82,96,2492,23,73053,97,672
भारत74,43,2331,13,17265,34,590
ब्राजील52,01,5701,53,22946,19,560
रूस13,84,23524,00210,65,199
स्पेन9,82,72333,775उपलब्ध नहीं
अर्जेंटीना9,65,60925,7237,78,501
कोलंबिया9,45,35428,6168,37,001
पेरू8,62,41733,6487,69,077
मैक्सिको8,41,66185,7046,12,216
फ्रांस8,34,77033,3031,04,696

ट्रम्प की रैली ने बढ़ाई दिक्कत
डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले महीने मिनेसोटा में रैली की थी। अब हेल्थ डिपार्टमेंट ने कहा है कि इस रैली में शामिल हुए 20 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। प्रशासन ने लोगों से कहा है कि अगर वे भी इस रैली में शामिल हुए हैं तो बिना देरी किए अपना टेस्ट कराएं ताकि संक्रमण फैलने से रोका जा सके। ट्रम्प की रैली के अगले दिन ही नौ लोग पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद 11 और लोगों की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

पिछले महीने मिनेसोटा में एक रैली के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प। इस रैली में शामिल होने वाले 20 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

पिछले महीने मिनेसोटा में एक रैली के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प। इस रैली में शामिल होने वाले 20 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

बेल्जियम में कर्फ्यू लगेगा
बेल्जियम के प्रधानमंत्री एलेक्जेंडर डी ने साफ कर दिया है कि संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए उनकी सरकार लॉकडाउन और कर्फ्यू जैसे सख्त कदम उठाने जा रही है। शुक्रवार को बेल्जियम कैबिनेट और हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसरों की एक इमरजेंसी मीटिंग हुई। इसमें फैसला किया गया कि रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। अगर जरूरत होती है तो देश के कुछ हिस्सों में लॉकडाउन भी किया जा सकता है। कैफे और रेस्टोरेंट्स एक महीने के लिए बंद कर दिए गए हैं।

बेल्जियम सरकार ने साफ कर दिया है कि वो संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने जा रही है। (फाइल)

बेल्जियम सरकार ने साफ कर दिया है कि वो संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए नाइट कर्फ्यू लगाने जा रही है। (फाइल)

एयर इंडिया की दिक्कत
हॉन्गकॉन्ग ने 17 से 30 अक्टूबर तक एयर इंडिया और विस्तार की उड़ानें रद्द कर दी हैं। दोनों उड़ानों में संक्रमित यात्री मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है। यह तीसरी बार है जब हॉन्गकॉन्ग की सरकार ने एयर इंडिया की फ्लाइट को बैन किया है। इससे पहले 20 सितंबर से 3 अक्टूबर तक और 18 से 31 अगस्त तक बैन लगाया गया था।
हालांकि, कोरोनावायरस के समय में विस्तारा की उड़ानें पहली बार रद्द की गई है। जुलाई में वहां की सरकार द्वारा जारी नियमों के अनुसार, भारत से यात्री केवल तभी वहां जा सकते हैं जब उनके पास यात्रा से 72 घंटे पहले किए गए टेस्ट में निगेटिव रिपोर्ट आई हो।

Read Entire Article